बालू खनन पर रोक की मांग को लेकर आमरण अनशन पर किसान

बांका : अवैध एवं अनियमित बालू खनन एवं ढूलाई पर रोक लगाने तथा इससे हुई क्षति की भरपाई की मांग को लेकर जिले के अमरपुर प्रखंड अंतर्गत विशनपुर (राजपुर) पंचायत के किसानों ने बुधवार से अमरपुर प्रखंड कार्यालय के समक्ष आमरण अनशन प्रारंभ किया. पहले दिन आमरण अनशन पर कुल सात किसान बैठे जबकि उनके समर्थन में दर्जनों अन्य किसान एवं ग्रामीण भी दिन भर धरना पर रहे. आमरण अनशन पर पहले दिन से बैठने वाले किसानों में अनिल कुमार सिंह, विनीत कुमार सिंह बंटी, राहुल कुमार, फूलचंद कुमार यादव, सोनू सिंह, दिवाकर सिंह तथा राजीव रंजन कुमार शामिल हैं.

उनकी मुख्य मांगों में जेठौर एवं पतवैय घाट से बालू उत्खनन तथा ढूलाई बंद करने, तटबंध की मरम्मती तथा बालू ट्रांसपोर्टेशन के लिए ग्रामीण सड़कों का उपयोग बंद करने, सदाबह डांड़ को अविलंब अतिक्रमण मुक्त कराने, किसानों के खेतों तक सिंचाई के लिए पानी की व्यवस्था संवेदक द्वारा कराने, क्षतिग्रस्त सड़कों एवं घोघा बीयर का नए सिरे से निर्माण कराने एवं बुधवार को बालू लदी ट्रक से हुई छात्रा की मौत को लेकर उसके परिजनों को समुचित मुआवजा दिए जाने आदि की मांगें शामिल हैं.अनशनकारी किसानों ने आरोप लगाया कि जेठौर, पतवय, दुबौनी, ककना आदि घाटों से गलत तरीके से बेहिसाब बालू का उत्खनन हो रहा है.

बालू के बेतरतीब उत्खनन से जहां चांदन नदी का वजूद संकट में है, वहीं क्षेत्र के किसानों को सिंचाई के लिए पानी नहीं मिल पा रहा और उनकी फसलें मारी जा रही हैं. इससे वे भुखमरी के कगार पर पहुंच रहे हैं. बालू के अवैध कारोबार एवं बालू माफियाओं के बढ़ते दबदबे से क्षेत्र में विधि व्यवस्था की समस्या उत्पन्न हो रही है. इस पर अविलंब रोक लगाना क्षेत्र के किसानों के हित में है. इस बीच अनशनकारी किसानों से मुलाकात करने सत्याग्रह स्थल पर आज भाजपा नेता मृणाल शेखर भी पहुंचे. उन्होंने किसानों की मांगों का समर्थन किया. साथ ही उन्हें हर संभव सहयोग करने का भी आश्वासन दिया. उन्होंने मांग की कि जिला प्रशासन एवं सरकार आंदोलनकारी किसानों की मांग पर अविलंब सुनवाई करे.

banka7

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *